Saturday, March 09, 2013

भोले बाबा के संग

हर साल शिवरात्रि पर जागरण में ,हरतालिका तीज जागरण में यह भजन बड़ी तन्मयता से हम सब सखिया मिलकर गाया करती थी और "भोले बाबा  "सचमुच प्रकट हो जाते थे ऐसा लगता था ।महाशिवरात्रि की पूर्व संध्या पर कई जानकारी परख आलेख पढ़े ब्लॉग पर फेस बुक पर तो ह्रदय में यह गीत गूंजने लगा आप सबके साथ फिर गुनगुना लूँ ।आखिर की दो पंक्तिया याद  नहीं आ रही है अगर आप लोग जानते है तो कृपया भजन पूराकरने की कृपा करे . ।

यह विशाल शिवजी की मूर्ति जबलपुर में है 



  •  

  •  
  •  उतरांचल यात्रा के समय अल्मोड़ा के पास एक मन्दिर में




अल्मोड़ा के पास एक प्राचीन शिव मंदिर 

 
 




एक भगत शिव का चला शिव को मनाने के लिए
हाथ में दो फूल ,लोटा ,जल चढ़ाने के लिए
एक भगत शिव का ........,
जल चढाया ,फूल चढ़ाया ,दीप जलाकर रख दिया
हाथ जब उपर उठाया घंटा बजाने के लिए
एक भगत शिव का .......
देखकर सोने का घंटा, पाप मन में आ गया ,
क्यूँ न इसको घर ले जाऊ गहने बनाने के लिए
एक भगत शिव का .........
इधर देखा ,उधर देखा, शिवजी के ऊपर चढ़ गया
 दोनों हाथ उपर उठाये घंटा ले जाने के लिए
एक भगत शिव का .........
.कोई चढ़ावे  फूल, फल और कोई चढ़ावे बेल पत्र
उसने तो खुद को चढाया ,शिव को मनाने के लिए
एक भगत शिव का
देखकर भोले की भक्ति ,शिवजी प्रकट होही  गये
बोले बच्चा आ गया मै ,तुझको  ले जाने के लिए
एक भगत शिव का ........



9 टिप्पणियाँ:

प्रवीण पाण्डेय said...

महाशिवरात्रि की शुभकामनायें..

दिनेश पारीक said...

बहुत सुन्दर प्रस्तुति!

महाशिवरात्रि की हार्दिक शुभकामनाएँ !
सादर

आज की मेरी नई रचना आपके विचारो के इंतजार में
अर्ज सुनिये

डॉ. मोनिका शर्मा said...

बहुत सुंदर गीत ....हार्दिक शुभकामनायें

रचना दीक्षित said...

शिवरात्रि पर सुंदर प्रस्तुति.

महाशिवरात्रि की हार्दिक शुभकामनायें..

Shubham Sadh said...

Pranam Taiji,
aage ki line ye hain shayad.. bhagwan ne prasanna hokar kahan do var maang, bhakt bola ek var mai to darshan pehle paa chuka, duja ye ghanta mile jivan chalane ke liye.bhakt ek shiv ka chala.....
bhagwan ne ghanta de diya bhakt ko aur haath sir pe rakha hai moksh pane ke liye.. bhakt ek shiv ka chala shiv ko manane ke liye!! :) Mahashivratri ki hardik shubhkamnae..:)

वन्दना अवस्थी दुबे said...

शानदार शिव-दर्शन.

अल्पना वर्मा said...

बहुत सुन्दर चित्र और भजन भी..

अल्पना वर्मा said...

बहुत सुन्दर चित्र और भजन भी..

कविता रावत said...

बहुत सुन्दर झलकियों के साथ सुन्दर शिवमय प्रस्तुति मन को बहुत अच्छी लगी ..